Friday, August 5, 2011

उसका बचपना नहीं जाता.....


उसका बचपना नहीं जाता
उस से रहा ही नहीं जाता
वो जिद से उलझी - सुलझी रहती है
वो बिना बात मचलती है
मेरे उसके इस रिश्ते के लिए
उसका यूंही बच्चा  बना रहना ही ठीक है शायद
क्योंकि बड़ों के बीच रिश्ते अकसर, बहुत छोटे होते हैं..

4 comments:

  1. Aaj Bhi sach Hi.....

    ReplyDelete
  2. bharti tiwari sharmaOctober 22, 2011 at 7:14 AM

    its true....bachpan nishachal hota hai...koi lauta de mere beete hue din

    ReplyDelete
  3. Aapki rachnaye padh kar dil se aansuon ka aana koi badi baat nahi

    ReplyDelete